Type Here to Get Search Results !

Manipur: मणिपुर में 7 महीने बाद वापस हुआ इंटरनेट चालू

 Manipurदोस्तों आप सभी को पता है कि मणिपुर में जातीय संघर्ष शुरू होने के कारण 3 में से इंटरनेट सेवाएं निलंबित कर दी गई थी। जो  की पूरे साथ महीने बाद वहां पुनः इंटरनेट चालू कर दिया गया है।

Manipur: मणिपुर में 7 महीने बाद वापस हुआ इंटरनेट चालू


आप सभी को अच्छे से पता है कि मणिपुर के पूर्वोत्तर क्षेत्र में दो आदिवासी समुदायों मैतेई और कुकी के बीच जातिय संघर्ष शुरू हुआ था जो कि बेहद ही गंभीर रूप धारण कर लिया था। जिसके चलते वाहन की सरकार को तत्काल इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई ताकि यह संघर्ष और भयानक रूप धारण न कर सके।

इंटरनेट सेवाएं मणिपुर में बंद होने के बाद भी लगातार जातीय संघर्ष जारी रहा। पूरे 7 महीने बाद वापस से यहां इंटरनेट सेवाएं प्रारंभ कर दी गई हैं। आपको बता दें कि मणिपुर सरकार ने रविवार को मणिपुर में इंटरनेट सेवाएं पुनः प्रारंभ कर दिया है। फिर भी मणिपुर के कुछ जिलों में अभी भी इंटरनेट सेवाएं बंद हैं। हालांकि अधिकतम क्षेत्र में इंटरनेट सेवाएं प्रारंभ कर दिए गए हैं।

इंटरनेट प्रबंध मणिपुर में कब हटा

दोस्तों आपको बताने की मणिपुर में इंटरनेट प्रबंध 23 सितंबर को कुछ समय के लिए हटा दिया गया था लेकिन 26 सितंबर को इसे फिर से शुरू कर दिया गया था की छमिया नफरत भरे और भाषण और नफरत फैलाने वाली वीडियो संदेशों को प्रसारित करने के लिए सोशल मीडिया के उपयोग को रोका जा सके जिसका कानून और व्यवस्था की स्थिति पर गंभीर असर हो सकता है।

दोस्तों आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मणिपुर की सरकार द्वारा जारी किए गए एक नोटिस में कहा गया है कि कानून व्यवस्था की स्थिति को ध्यान में रखते हुए जिसमें पिछले कुछ दिनों में गठित तौर पर सुधार हुआ और इस तरह के निलंबन की लंबी अवधि के कारण आम जनता को होने वाली सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार ने निलंबन में दिल देने का फैसला किया है।

मणिपुर रिपोर्ट

दोस्तों आपको बता दे कि मणिपुर में अभी तक 182 लोगों की मौत हो चुकी है और 50000 से अधिक लोग भी स्थापित हो चुके हैं। आपको बता दें कि मणिपुर में इस 7 महीने अधिकतम हिस्सा गोलीबारी, आगजनी और अपहरण जैसे कृत्यों से प्रभावित हुआ है।

मणिपुर में इंटरनेट सेवा में निलंबन हटाने की वजह

दोस्तों आपको बताने की मणिपुर से इंटरनेट निलंबित सेवाएं हटाने से पूर्व केंद्र और मणिपुर सरकार द्वारा राज्य के सबसे पुराने उग्रवादी संगठन जिसका नाम है यूनाइटेड नेशनल लिबरेशन फोर्स इसके साथ नई दिल्ली में शांति समझौते पर हस्ताक्षर करने के चार दिन बाद इंटरनेट सेवाओं से निलंबन हटाया गया है।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.